Press "Enter" to skip to content

Posts tagged as “#Dengu”

बिहार में डेंगू का कहर- मुजफ्फरपुर में अबतक मिले 5 मरीज, ना छिड़काव ना फॉगिंग, नरक बना हुआ हैं शहर

पूरे बिहार में डेंगू का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है, वहीं मुजफ्फरपुर में भी करीब आधा दर्जन मरीज डेंगू से ग्रसित मिले हैं. वहीं शहर की हालत नारकीय हो चुकी है, लेकिन ना तो स्वास्थ्य विभाग इसको लेकर तत्पर हैं ना ही नगर निगम।

शहर के अधिकांश हिस्सों में जलजमाव है, डेंगू का खतरा बढ़ता जा रहा है. लेकिन अब तक ना तो शहर के किसी हिस्से में फॉगिंग की जा रही हैं, ना ही छिड़काव किया गया हैं।

नगर निगम के अधिकारियो चुनाव में बिज़ी हैं, वहीं सिविल सर्जन डॉ उमेशचंद्र शर्मा ने बताया कि जल्द ही तमाम क्षेत्रों में छिड़काव कराई जाएगी, साथ ही उन्होंने सभी को सावधानी बरतने का सुझाव दिया है।

मुंगेर में डेंगू के तीन मरीजों की पुष्टि, स्वास्थ महकमा में हड़कंप

मुंगेर में सरकारी तौर पे अभी तीन डेंगू मरीजों की पुष्टि की गई है । जिनका एलाइजा जांच रिपोर्ट में डेंगू की पुष्टि हुई । पर कई निजी क्लिनिको में कम प्लेटलेट वाले डेंगू के संभावित मरीज अभी की इलाजरत है ।

संभावित डेंगू मरीजों का प्लेटलेट्स अचानक कम हो जाने के कारण सदर अस्पताल स्थित ब्लड बैंक में ऐसे मरीजों को प्लेटलेट्स की डिमांड काफी बढ़ गई है। जिस कारण ब्लड बैंक में प्लेटलेट्स के लिए आपाधापी मची है।

पिछले तीन दिनों में कम प्लैटीलेट्स वाले 17 लोगों को ब्लड बैंक से 17 यूनिट प्लेटलेट्स उपलब्ध कराया जा चुका है। बता दें कि डेंगू बीमारी का सबसे बड़ा लक्षण शरीर में प्लेटलेट्स का लगातार कम होना है। और इसमें सबसे अहम भूमिका निभाता है मुंगेर सदर अस्पताल परिसर में स्थित ब्लड कंपोनेंट सेप्रेटर यूनिट (ब्लड बैंक) जो को ब्लड से प्लेटलेट को अगल कर मरीजों को उपलब्ध करा उसकी जान बचाता है।

ब्लड बैंक द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार डेंगू ने पूरी तरह मुंगेर में अपना दस्तक दे चुकी है । हालांकि सरकारी आंकड़े अभी काफी कम है । यही वजह है की ब्लड बैंक सिर्फ मुंगेर ही नहीं बल्कि जिले के आए पास के जिलों के लिए भी एक वरदान की तरह साबित हो रहा है। 24*7 की तर्ज पे कार्यरत रेड क्रॉस के मार्गदर्शन में कार्यरत ब्लड बैंक के इंचार्ज डॉक्टर फैज बताते है की। ।

डेंगू के पुष्टि होने के बाद मुंगेर ब्लड बैंक के द्वारा लगातार विभिन्न ग्रुपों का प्लेटलेट बनाया जा रहा है। होल ब्लड से ज्यादा प्लेटलेट अभी बना के रखा जा सकता है क्योंकि की प्लेटलेट की आयु मात्र पांच दिन ही होती है । अभी ब्लड बैंक के पास 12 यूनिट प्लेटलेट , 33 यूनिट पैक्ट RBC , 38 यूनिट होल ब्लड है । जिससे अभी डेंगू सहित अन्य मरीजों को ब्लड उपलब्ध कराया जा रहा । साथ ही कहा की अगर डेंगू के केस बढ़ते है तो मुंगेर ब्लड बैंक इससे निपटने और मरीजों को प्लेटलेट उपलब्ध कराने के लिए पूरी तरह तैयार है ।

मुजफ्फरपुर में डराने लगा है डेंगू का डंक, अबतक मिले दो मरीज

मुजफ्फरपुर में डेंगू को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर है. जिले में अबतक दो मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई है, दोनों मरीज का इलाज पटना के एम्स में चल रहा है, जिसमें से एक मरीज ठीक होकर घर लौट चुका हैं.

वहीं इसको लेकर मुजफ्फरपुर का स्वास्थ्य विभाग अलर्ट है.राज्य की स्वास्थ्य विभाग ने सूबे में भी डेंगू के मामला को लेकर के ही स्वास्थ्य विभाग के द्वारा सभी जिले के स्वास्थ विभाग के लिए अलर्ट को जारी किया गया है। इसके साथ ही इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग इसको लेकर अलर्ट पर आया है और इसको लेकर के प्रभावित क्षेत्र में छिड़काव को लेकर निर्देश दिया गया है।

आपको बता दें कि कल जिला में शहर के एमएसकेबी के पास के एक मुहल्ले में एक केस की पुष्टि हुआ है जिसको बेहतर इलाज के लिए पटना AIIMS में इलाज के लिए भर्ती कराया गया हैइसके पहले जिला के सकरा थाना क्षेत्र में एक व्यक्ति में डेंगू की हुआ था पुष्टि जिसको इलाज के पटना कराया गया था जो ठीक होकर लौट चुका है.मामले में सीएस डॉ उमेश चंद्र शर्मा ने बताया कि अब तक दो केस हाल में आया है जिसमे एक ठीक हो चुका है जबकि एक को इलाज के लिए भर्ती कराया गया है।

डेंगू के लेकर अलर्ट पर है हमलोग और इसके साथ अब प्रभावित क्षेत्र में छिड़काव करवाया जा रहा है फिलहाल इसके बाद अब जरूरी निर्देश संबंधित पदाधिकारी को निर्देश दिया गया है इसके साथ ही डेंगू के इलाज के मामले को लेकर हमलोग की तैयारी पूरी है और इसके साथ ही दवाओ की कोई कमी नहीं है।