Press "Enter" to skip to content

Posts tagged as “#BiharNews”

अज्ञात वाहन की चपेट में आकर किशोर की मौत, परिजनों में मचा कोहराम

जहानाबाद में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से एक 12 वर्षीय किशोर की मौत हो गई। घटना कड़ौना ओपी क्षेत्र के सिकरिया बाजार समिति के पास की है।

घटना के संबंध में बताया जाता है कि भेवड़ गांव का रहने वाला 12 वर्षीय किशोर बंटी कुमार अपने किसी कार्य से सिकरिया बाजार समिति जा रहा था तभी अज्ञात तेज रफ्तार से जा रहे वाहन ने जोरदार धक्का मार दिया। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। वावजूद किशोर जख्मी हालत में किसी तरह अपने घर पहुंच कर दुर्घटना के संबंध में परिजनों को बताया।

परिजनों ने आनन-फानन में उसे निजी क्लीनिक में इलाज के लिए ले गए जहां से चिकित्सकों ने जहानाबाद सदर अस्पताल रेफर कर दिया। जहां अस्पताल लाने के क्रम में उसकी मौत हो गयी।

वही किशोर की मौत होते ही परिजनों में कोहराम मच गया। इधर घटना की सूचना पाकर मौके पर पुलिस पहुंच गयी और शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की छानबीन करने में जुटी है।

बेटी की इज्जत बचाने के लिए दर-दर की ठोकरे खा रहा परिवार, अभी तक नहीं मिला न्याय

दानापुर से जहां पटना का बेऊर पुलिस और महिला थाना में एक पीड़िता चक्कर काटती रह गई लेकिन कही से न्याय नही मिला जब एसएसपी के पास गई तो वहा से भी सिर्फ आश्वासन मिला करवाही अभी तक नही हुई।

दरसल ममाला बेऊर थाना क्षेत्र के चिलबिल्लिबगांव का है जहा की एक बेटी के परिवार को इज्जत बचाने के लिए डर डर कर जीना पड़ रहा है और पुलिस से गुहार लगाने के बाद भी न्याय नही मिल रहा है। नाबालिग बच्ची से दुष्कर्म का प्रयास किया गया तो पीड़ित की मां अपनी बेटी के साथ 4 दिनों से न्याय के लिए थाना का चक्कर काट रही है बेऊर थाना से महिला थाना और महिला थाना से बेऊर थाना का चक्कर लगवाया जा रहा है । इसके बाद पीड़िता ने न्याय के लिए वरीय अधिकारियों का दरवाजा खटखटाया है । जिसके बाद भी अभी तक पुलिस ने कोई ठोस करवाही नही किया है।

बेऊर थाना की रहनेवाली पीड़िता ने बताया की गांव के ही रहने वाले आदित्य नाम के युवक पर जबरदस्ती बेइज्जत करने का प्रयास किया गया। वही पीड़िता की मां ने बताया की मजदूरी से परिवार चलता है । 3 दिन पहले खेत में काम कर रही थी । उनकी 14 वर्ष की बेटी पानी लेने घर गई । वह घर पहुंची तो बगल के ही एक लड़के ने घर में घुसकर उसके साथ जबरदस्ती करने का प्रयास किया । बच्ची के शोर मचाते ही वह लड़का वहां से भाग गया । शिकायत करने पर आक्रोशित हो गया परिवार इस हादसे से परेशान लड़की ने इस बात की सूचना अपने परिवार के लोगों को दी । सूचना मिलते ही परिवार के लोग आक्रोशित हो गए । इसकी शिकायत लड़के के परिजनों से करने पहुंचे तो वह मारपीट करने को उतारू हो गए ।

मां ने बताया कि जब वे इसकी शिकायत करने बेऊर थाना पहुंची तो उन्हें महिला थाना का मामला बताकर महिला थाना भेज दिया गया । इसके बाद जब वे महिला थाना गई तो बेउर थाना का मामला बताकर उन्हें वापस भेज दिया गया । जिसके बाद एसएसपी के पास सुरक्षा की गुहार लगाई है ।

इस मामले को बेउर पुलिस प्रेम प्रसंग का माला बताब्रही है । उन्होंने बताया कि लड़का और लड़की दोनों पक्ष के लोग एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं ।

बहरहाल कानूनी तौर पर पीड़िता के अकायत पर पुलिस को जांच करनी चाहिए थी वह भी नही हो पाया है।

मुख्यमंत्री ने बिहार संग्रहालय के स्थापना दिवस समारोह का किया शुभारंभ

बिहार म्यूजियम और पटना म्यूजियम को भूमिगत मार्ग से जोड़ने के लिए 375 करोड़ रूपये की योजना स्वीकृत की गयी है। दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन इस कार्य को पूरा करेगा – मुख्यमंत्री

बिहार म्यूजियम और पटना म्यूजियम के बीच की दूरी डेढ़ किलोमीटर है, जब भूमिगत मार्ग बनकर तैयार होगा तो यह पर्यटकों को काफी आकर्षित करेगा।

हमलोगों की इच्छा है कि अधिक से अधिक लोग इतिहास और अपनी विरासत को जानें। 2 अक्टूबर को बापू के जन्मदिन पर बिहार म्यूजियम में कार्यक्रम जरूर आयोजित करायें। उस दिन म्यूजियम भ्रमण की निःशुल्क व्यवस्था रखें। बिहार म्यूजियम के साथ-साथ पटना म्यूजियम का मेंटेनेंस ठीक ढंग से हो।

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

पटना, 07 अगस्त 2022 । मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने आज बिहार संग्रहालय स्थापना दिवस समारोह का दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ किया। समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार संग्रहालय के स्थापना दिवस के अवसर पर आज पहली बार कार्यक्रम आयोजित किया गया है। मैं इस कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों का अभिनन्दन करता हूँ।

7 अगस्त 2015 को बिहार संग्रहालय के एक हिस्से (बाल दीर्घा) का उद्घाटन हुआ था, इसे ध्यान में रखते हुए बिहार म्यूजियम शासी निकाय की बैठक हुयी थी, जिसमें 7 अगस्त 2022 को पहली बार बिहार संग्रहालय का स्थापना दिवस मनाने का निर्णय लिया गया था। इस स्थापना दिवस समारोह का थीम देवी एवं महिला रखा गया है, यह बहुत बड़ी बात है। इस स्थापना दिवस समारोह के अवसर पर अगले दो माह तक अनेक कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे जिसमें दो दिवसीय कला मेला का भी आयोजन किया जाएगा यहाँ देवी एवं महिला पर आधारित प्रदर्शनी भी लगाई गयी है। देवी एवं महिला पर आधारित प्रदर्शनी में पौराणिक काल से अब की बातों को प्रदर्शित करते हुए उसका विस्तृत रूप से उल्लेख किया गया है।

हम जब स्टूडेंट थे उस समय हमने पटना म्यूजियम को आकर देखा था हम जब सरकार में आयें तो पटना म्यूजियम के बगल में एक भवन बनाने का निर्णय लिया गया। हमने उसे जाकर देखा तो कहा कि इसे बनाने का कोई मतलब नहीं है। पटना म्यूजियम में जितने चीजें संग्रहित हैं उसे ठीक ढंग से प्रदर्शित करने के लिए एक अंतर्राष्ट्रीय मानक का म्यूजियम बनाना होगा ताकि सभी धरोहर सुरक्षित रहें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी धरोहरों का कालखंड एवं महत्व लोग जान और समझ सकें, इसके लिए सभी कलाकृतियों के नीचे विस्तृत जानकारी का भी उल्लेख करना होगा। उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर का म्यूजियम देश में नहीं है इसलिए हमने इंटरनेशनल म्यूजियम बनाने का कांसेप्ट दिया। इसके लिए ग्लोबल टेंडर किया गया और कनाडा की लार्ड कल्चरल रिसोर्सेज को इंटरनेशनल म्यूजियम की पूरी अवधारणा का जिम्मा सौंपा गया। दुनिया भर में कनाडा की लार्ड कल्चरल रिसोर्सेज 100 से अधिक संग्रहालयों की स्थापना कर चुकी है कनाडा की लार्ड कल्चरल रिसोर्सेज के हेड अपने टीम के साथ आकर हमसे मिले थे और विस्तृत चर्चा हुयी थी।

हमने उन्हें अपना कॉन्सेप्ट बताया। अंतर्राष्ट्रीय स्तर का म्यूजियम बनाने के लिए काफी विमर्श हुआ म्यूजियम की डिजाइन के लिए भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर का टेंडर हुआ जिसमें जापान के विश्व प्रसिद्ध मॉकी एंड एसोसिएट का चयन किया गया। हमें वर्ष 2018 में जापान जाने का मौका मिला तो वहां भी श्री फमिडियो मॉकी जी आकर मिले थे बिहार म्यूजियम के बिल्डिंग निर्माण के लिए एल एंड टी कम्पनी को काम दिया गया। यह निर्माण के लिए बहुत अच्छी कम्पनी मानी जाती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर के म्यूजियम का निर्माण कराने के लिए 16 जून 2013 को 498 करोड़ रूपये की धनराशि की स्वीकृत की गयी। हमने कहा कि नेहरू पथ पर स्थित पांच सरकारी भवनों को तोड़कर वहां अंतर्राष्ट्रीय स्तर के म्यूजियम का निर्माण कराया जाए। उस समय जो लोग उन भवनों में रहते थे वे कोर्ट चले गये और कुछ लोगों ने तरह-तरह के सवाल खड़े किये। अंततः सभी बाधाएं दूर हो गई। 08 जुलाई 2013 को इसका शिलान्यास किया गया और 7 अगस्त 2015 को इसके एक हिस्से का शुभारम्भ किया गया। उस दिन वर्षापात हुई थी, आज भी वर्षा होती तो काफी अच्छा लगता लेकिन इस बार स्थिति कुछ अलग है।

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

मुख्यमंत्री ने कहा कि बापू के जन्म दिवस के अवसर पर 2 अक्टूबर 2017 को इस अंतर्राष्ट्रीय स्तर के बिहार म्यूजियम के शेष दीर्घाओं का लोकार्पण कर दिया गया। उस कार्यक्रम में बाहर से बड़ी संख्या में लोग आये थे और इसकी काफी सराहना भी हुई थी। प्रतिदिन हजारों की संख्या में दर्शक यहाँ पहुँचते है और यह बिहार का प्रमुख आकर्षक स्थल बन गया है। जब यह बनकर तैयार हो गया तो इसका नाम ‘बिहार म्यूजियम रखा गया। उन्होंने कहा कि इसमें पटना म्यूजियम से सामान लाकर रखा गया। यह तय किया गया कि प्री हिस्टोरिक पीरियड के पहले की सभी चीजें बिहार म्यूजियम में रखी जायेगी और बाद की चीजें पटना म्यूजियम में ही रहेगी। पटना म्यूजियम में प्रथम राष्ट्रपति डॉ० राजेन्द्र प्रसाद गैलरी, राहुल सांकृत्यायन द्वारा लायी गयी पाण्डुलिपि, नेचुरल हिस्ट्री आदि से संबंधित महत्वपूर्ण चीजें पटना गैलरी में ही संरक्षित हैं। पटना म्यूजियम के प्रांगण में भवन का निर्माण हो रहा है, हम चाहेंगे कि उसका काम और तेजी से पूर्ण हो ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 14 अक्टूबर 2017 को जब आदरणीय प्रधानमंत्री जी बिहार दौरे पर आए थे तो इस म्यूजियम को आकर देखे थे। पटना म्यूजियम और बिहार म्यूजियम को भूमिगत मार्ग से जोड़ने के लिए 375 करोड़ रूपये की योजना स्वीकृत कर दी गई है। दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन जो पटना मेट्रो रेल का निर्माण कर रही है, उसको ही भूमिगत मार्ग के निर्माण का काम दिया गया है। दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन बहुत ही अच्छे ढंग से काम करता है। इन दोनों म्यूजियम के बीच की दूरी डेढ़ किलोमीटर है, जब भूमिगत मार्ग बनकर तैयार होगा तो पर्यटकों को काफी आकर्षित करेगा। भ्रमण करने वालों को अच्छी फीलिंग होगी ऐसी व्यवस्था कर दी जायेगी कि एक ही टिकट पर टूरिस्ट पटना म्यूजियम और बिहार संग्रहालय का भ्रमण कर सकें। तीन साल के अंदर यह काम पूरा होना है। हम तो चाहेंगे कि यह काम जल्द से जल्द पूरा हो। पटना म्यूजियम में खुदाई का काम शुरु किया गया है जिसके दो-तीन लेयर की खुदाई में तीसरी और चौथी शताब्दी के कई अवशेष मिले हैं। हमलोगों की इच्छा है कि इतिहास को लोग जानें, सिर्फ बिहार ही नहीं देश का इतिहास यहां से जुड़ा हुआ है। यहां के पौराणिक चीजों को लोग आकर म्यूजियम में देखेंगे ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार संग्रहालय के स्थापना दिवस के अवसर पर प्रतिवर्ष कार्यक्रम का आयोजन किया जाय। इस बार स्थापना दिवस के अवसर पर दो माह तक कार्यकम चलेगा यह काफी अच्छी बात है। यहाँ की मूर्तियों को अन्य जगहों पर नही ले जाया जाए ताकि वे पूरी तरह से सुरक्षित रहे। उन्होंने कहा कि हम आग्रह करेंगे कि 2 अक्टूबर को बापू के जन्मदिन पर भी जरुर कुछ कार्यक्रम आयोजित कराइये। उस दिन आयोजित होने वाले कार्यक्रम में शामिल होने एवं संग्रहालय भ्रमण करने की व्यवस्था निःशुल्क रखें ताकि अधिक से अधिक लोग यहाँ प्रदर्शित धरोहरों को देख और अपने विरासत को समझ सकें। हमने इंटरनेशनल म्यूजियम बनवाया है। दुनिया भर में जो इंटरनेशनल म्यूजियम हैं वहां प्रदर्शित चीजों के नीचे उसके विषय में विस्तृत जानकारी का उल्लेख किया गया है इसलिए यहाँ भी रखे गये सभी धरोहरों के बारे में विस्तारपूर्वक स्पष्ट शब्दों में जरुर लिखवा दें ताकि देखने वाले लोग आसानी से समझ सकें। इंटरनेशनल स्टैंडर्ड के इस म्यूजियम में एक-एक चीज का मेंटेनेंस भी बेहतर तरीके से होना चाहिए। बिहार संग्रहालय के साथ-साथ पटना म्यूजियम का मेंटेनेंस भी ठीक ढंग से हो, इस पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। इस काम को बेहतर तरीके से आगे बढ़ाइए।

कार्यक्रम के प्रारंभ में बिहार संग्रहालय के महानिदेशक श्री अंजनी कुमार सिंह ने मुख्यमंत्री को प्रतीक चिन्ह एवं पौधा भेंटकर उनका स्वागत किया। बिहार संग्रहालय प्रांगण में आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री ने ‘महिला एवं देवी नामक पुस्तिका का विमोचन भी किया ।

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

समारोह को कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के मंत्री श्री आलोक रंजन एवं बिहार संग्रहालय के महानिदेशक श्री अंजनी कुमार सिंह ने भी संबोधित किया। सचिव कला, संस्कृति एवं युवा विभाग श्रीमती वंदना प्रेयसी ने धन्यवाद ज्ञापन किया ।

संबोधन के पश्चात् मुख्यमंत्री ने ‘देवी एवं महिला पर आधारित प्रदर्शनी का फीता काटकर शुभारंभ कर प्रदर्शनी का अवलोकन किया। प्रदर्शनी में 8वीं से 14वीं शताब्दी के प्रस्तर कला से संबंधित मूर्तियाँ, टेराकोटा, कांस्य, 18वीं शताब्दी के पर्सियन स्कूल, 18वीं शताब्दी के मुगल स्कूल, 17 से 21 शताब्दी से जुड़ी चित्रकलाएं, 1962 से 2017 तक के समकालीन कला से संबंधित सामग्रियां प्रदर्शित की गयी है।

महंगाई के खिलाफ जहानाबाद में महागठबंधन का हल्ला बोल, गोपाल शर्मा ने किया आक्रोश मार्च का नेतृत्व

जहानाबाद में बढ़ती महंगाई बेरोजगारी और भ्रष्टाचार के खिलाफ महागठबंधन ने आक्रोश मार्च निकाला। इस दौरान केंद्र की मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ एक साथ सभी पार्टियों में आक्रोश मार्च में विरोध जताया। यह आक्रोश मार्च शहर के अरवल मोड़ से कारगिल चौक तक निकाली गई. आक्रोश मार्च में अग्निपथ योजना के मुद्दे के विरोध में भी प्रदर्शन किया गया। इसके अलावा जिले को सूखाग्रस्त घोषित करने की भी मांग की गई।

किसानों को खाद की किल्लत के कारण हो रही परेशानी का भी मुद्दा उठाया गया। आक्रोश मार्च में राष्ट्रीय जनता दल के अलावा कांग्रेस और भाकपा माकपा पार्टियों के नेता भी शामिल हुए. कांग्रेस नेता गोपाल शर्मा ने केंद्र सरकार की नीतियों की आलोचना की। मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि ये सरकार जनविरोधी सरकार है। महंगाई और बेरोजगारी सबसे गम्भीर मुद्दा है।

देश में जिस प्रकार से पेट्रोल डीजल और खाद्य पदार्थों की कीमत जितने तेजी से बढ़ रही है और जरूरी वस्तुओं पर जीएसटी लगाया गया है उससे हालत और खराब होगी। साथ ही कहा कि मोदी सरकार के इशारों पर ईडी और CBI सलेक्टिव लोगों पर कार्रवाई करती है। भाजपा के भ्रष्टाचारी नेताओं पर कार्रवाई नहीं होती।

डीजल,पेट्रोल,CNG, रसोई गैस एवं बढ़ती महंगाई के विरोध में कल पटना के ऑटो चालक विरोध प्रदर्शन करेंगें

पटना । बिहार समेत पूरे भारत में डीजल,पेट्रोल,CNG, रसोई गैस एवं बढ़ती महंगाई के विरोध में कल पटना के ऑटो चालक विरोध प्रदर्शन करेंगें।

आज शनिवार पटना जंक्शन पर टाटा पार्क ऑटो स्टैंड में कार्यरत ऑटो यूनियनों के पदाधिकारियों की बैठक राजकुमार झा की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।

Auto

बैठक में सर्वसम्मति से ये निर्णय हुआ कि कल रविवार को पटना जंक्शन टाटा पार्क ऑटो स्टैंड में दिन के 11 बजे एक अनोखे जुलूस के साथ विरोध प्रदर्शन करते हुए डाकबंगला चौराहा तक जाएगा।

मुख्यमंत्री ने श्री जगदीप धनखड़ को उप राष्ट्रपति निर्वाचित होने पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनायें दी

पटना, 06 अगस्त 2022। मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने श्री जगदीप धनखड़ को भारत का उप राष्ट्रपति निर्वाचित होने पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनायें दी ।

आरसीपी सिंह ने जेडीयू से दिया इस्तीफा

नालन्दा। आरसीपी सिंह ने जेडीयू से दिया इस्तीफा । पार्टी की सदस्यता से दिया इस्तीफा, नया संगठन बनाने का दिया संकेत ।

साजिश के तहत फंसाने का लगाया आरोप।

मुजफ्फरपुर रेल पुलिस को मिली बड़ी सफलता, जंक्शन से पकड़ाया बाल तस्कर, 4 बच्चे किये गए बरामद

मुजफ्फरपुर रेल पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है, रेलवे पुलिस ने बाल तस्करी के आरोप में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है, साथ ही मौके से 4 बच्चों को भी बरामद किया है।

मिली जानकारी के अनुसार आरोपी युवक बच्चो से बिस्कुट फैक्ट्री में बाल मजदूरी करवा रहा था। बंगाल जाने के क्रम में वह जंक्शन से पकड़ा गया। आरोपी पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले नानूर थाना क्षेत्र का रहने वाला शेख कालू है। पूछताछ के बाद उसे सोनपुर स्तिथ रेलवे कोर्ट के पेश कराने के लिए भेजा गया है।

बताया जा रहा है कि आरोपी युवक बच्चो को बहला फुसलाकर रोजगार देने के नाम पर एक राज्य से दूसरे राज्य ले जाया करता है। फिर, उससे अन्य राज्यो में काम कराने के लिए फैक्ट्री व अन्य जगहों पर रख देता था। ताकि, उनसे बाल मजदूरी कराया जा सके। इसके एवज में उसे मोटी रकम की कमाई होती थी।

बताया जा रहा है कि चारो बच्चे भी पश्चिम बंगाल के ही रहने वाले है। उसे आरोपी ने मुजफ्फरपुर में लेकर पहुंचा था। यहां वह उन बच्चो से बाल मजदूरी करवा रहा था। इसी बीच वह उन्हें वापस बंगाल ले जा रहा था। इसको लेकर वह मुजफ्फरपुर जंक्शन पहुंचा था।

इसी दौरान वह प्लेटफॉर्म संख्या 1 से पकड़ा गया। हालांकि आरोपी शेख कालू बार बार बच्चों को अपना रिश्तेदार बता रहा है, और उसे घर ले जाने की बात कर रहा है। मुजफ्फरपुर रेल एसपी अशोक कुमार प्रसाद ने बताया कि आरोपियों युवक को गिरफ्तार कर लिया गया है. उन्होंने बताया कि नाबालिग बच्चों से फैक्ट्री में काम कराया जाता था, उन्हें अब चाइल्ड लाइन भेज दिया गया है, उनके परिजनों से सम्पर्क साधने की कोशिश की जा रही है। वहीं रेल एसपी ने बताया कि ऐसे फैक्ट्री पर भी कार्रवाई की जाएगी जो नाबालिग बच्चों से काम करवाते है।

संदिग्ध हालत में मिला एक व्यक्ति का शव, पुलिस से शव लेकर जबरन भागे ग्रामीण

वैशाली के महुआ में संदिग्ध हालात में एक व्यक्ति की मौत मामले में नया मोड़ उस वक्त आ गया जब महुआ के भदवास गांव में मृतक के परिजनों और ग्रामीणों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया और मौके पर पहुंची पुलिस ने पुलिस के साथ धक्का मुक्की कर शव को ले भागे।

एसपी के आदेश पर महुआ एसडीपीओ मामले की जांच करने पहुंची थी और शव को पोस्टमार्टम के लिए लाने का प्रयास किया लेकिन परिजन और ग्रामीण शव का पोस्टमार्टम कराने को तैयार नहीं थे लिहाजा लोगो ने पुलिस के साथ धक्का मुक्की कर शव को गाड़ी में लादकर ले भागे।

हालांकि पुलिस ने कड़ी मशक्कत कर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।इस बाबत एसपी मनीष ने फोन पर बताया कि मामले की जांच के लिए महुआ एसडीपीओ पूनम केसरी और महनार एसडीपीओ एस के पंजियार के नेतृत्व में जांच टीम का गठन किया गया है जो पूरे मामले की जांच कर रही हैं। वही एसपी ने लोगो से अपील करते हुए कहा है कि अगर किसी की तबियत खराब है तो वह सामने आए ताकि समय पर उनका ईलाज कराया जा सके।

व्यक्ति का शव

इस मामले को लोग छुपाए नहीं।बहरहाल महुआ के भदवास गांव और देशरी के नयागंज में पुलिस प्रशासन की टीम मौके पर पहुंच कर मामले की जांच में जुट गई है।बता दे कि इस मामले में अभी तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है जिसमे से महुआ के भदवास का एक व्यक्ति विकास चौधरी, देशरी थाना क्षेत्र के सुनील चौधरी और दीपक साह की मौत हो गई हैं।

घर के अंदर बने तहखाने से भारी मात्रा में हथियार बरामद, मुंगेर पुलिस को मिली कामयाबी

मुंगेर पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। जहाँ टेटिया बंबर थाना क्षेत्र के खपड़ा गांव में शुक्रवार की देर शाम एसटीफ़ और जिला पुलिस ने अवैध हथियारों के कारखाना का पर्दाफाश किया है।

करीब 4 से 5 घंटे तक चली छापेमारी में टीम ने पूरे घर और तहखाने को खंगाला.जिसमे टीम के संचालक सुरेंद्र महतो सहित दो कारीगर को भी गिरफ्तार किया गया है। बता दे की घर के अंदर बने तहखाने में मिनी गन फैक्ट्री संचालन किया जा रहा था। जिसमे 50 से ज्यादा अर्ध निर्मित पिस्टल , लेथ मशीन , और हथियार बनाने का उपकरण भी बरामद किया गया है।

जानकारी के अनुसार मुंगेर में पॉलिसी दविश के कारण अब हथियार तस्कर मुंगेर के बरदह को छोड़ जिले के दूसरे या जिले से बाहर अपना ठिकाना बना हथियार बनाने में जुटे है ।पर पुलिस वहां से उन्हें पकड़ने में लगी है ।

एक महिला और उसकी बेटी का सर कटा शव हुआ बरामद, पति के ऊपर हत्या का लग रहा आरोप

मधेपुरा सदर थाना क्षेत्र के गोढाईला गांव में एक विवाहिता का कटा सर मिलने से इलाके में सनसनी फैल गयी। बताया जाता है कि पति ने ही महिला और अपनी एक बेटी की हत्या कर दी है।

महिला का धर और बेटी का शव श्रीनगर थानाक्षेत्र के पोखरिया सरहद गांव से बरामद होने की बात कही जा रही है। जहां महिला का ससुराल है। घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची है और छानबीन में जुट गई है। बताया जा रहा है कि गोधेला के बाबुल राजा की बहन की शादी वर्षों पूर्व श्रीनगर थाना क्षेत्र के पोखरिया गांव में हुई थी।

महिला को 3 बच्चे भी थे। लेकिन महिला का पति के साथ अक्सर विवाद होते रहता था। इस कारण से महिला की पिटाई भी की जाती थी। प्रताड़ना से तंग आकर विवाहिता 15 दिन पहले अपने मायके आ गई थी। जहां से वह अपने ससुराल जाना नहीं चाहती थी। इस बीच लगभग 10 दिन पहले विवाहिता का पति ससुराल आया पत्नी की विदाई कराने के लिए लेकिन जब पत्नी विदाई नहीं कर कराना चाहती थी तो फिर पति अपने साथ गांव का वार्ड सदस्य 8-10 लोगों के साथ आया। गांव में पंचायत भी हुई। उसमें फैसला हुआ कि दोनों राजी खुशी से रहेंगे।

इसके बाद विवाहिता की विदाई कराई गई। इस बीच शनिवार की सुबह जब गांव के लोग खेत की ओर टहलने के लिए निकले तो गांव से बाहर पुलिया पर एक महिला का सिर रखा हुआ देखा। इसकी सूचना मिलते ही गांव के बहुत सारे लोग वहां जुट गए। इसके बाद लोगों ने उसकी पहचान बाबुल राजा की बहन रुखसाना के रूप में की गयी है पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

मुजफ्फरपुर में ट्रेन से गिरकर एक की मौत, लूट की आशंका जताई जा रही

मुजफ्फरपुर-हाजीपुर लाइन के पास भगवानपुर फ्लाई ओवर के पास में एक अज्ञात व्यक्ति का शव बरामद होने से फैली सनसनी और आशंका जताई जा रही है कि ट्रेन से गिरकर मौत हुई है। मुजफ्फरपुर और हाजीपुर लाइन के डाउन लाइन पर क्रॉस कर रही एक ट्रेन से गिरकर मौत की मिली जानकारी के ही बाद मौके पर पहुंची हुई सदर थाना की पुलिस मामले के जांच में जुटी।

मृतक का उम्र करीब 35 वर्ष बताया जा रहा है जिसकी पहचान अब तक नही किया जा सका है। यह भी आशंका जताई जा रही है की ट्रेन में मोबाइल छिनतई और लूटपाट के वारदात को अंजाम देने वाले गिरोह का शिकार हुआ है मृतक। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया जाने के लिए भेजा। घटना हाजीपुर और मुजफ्फरपुर डाउन लाइन के पास का है।


घटना की सूचना के बाद मौके पर पहुंची सदर थाना पुलिस के सब इंस्पेक्टर मणि भूषण कुमार ने बताया कि एक शख्स के ट्रैक पर होने की जानकारी मिली थी जिसके बाद हम लोग इसकी पड़ताल कर रहे हैं आशंका जताई जा रही है कि ट्रेन से गिरकर मौत हुई है मौत का कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद हो पाएगा घटना का कारण क्या है इसकी जांच हम कर रहे हैं फिलहाल मृतक की पहचान नहीं हो पाई है।

मुजफ्फरपुर: प्रेम प्रसंग में भागी महिला की हत्या

मुजफ्फरपुर । ससुराल वालों ने महिला की हत्या कर शव को दफनाया, प्रेम प्रसंग में भागी महिला की हत्या।

प्रेमी संग फरार हो गई थी तीन बच्चों की मां । ससुराल वालों ने कर दी हत्या, शव दफनाकर हुए फरार।

सकरा थाना क्षेत्र के पिलखी ठिकहा की घटना, मामले की जाँच में जुटी पुलिस।

दो दिन पहले हुई हत्या, अब शव को दफनाया।

घटना से इलाके में फैली सनसनी।

पटना हाईकोर्ट ने मैथिली विषय में 43 असिस्टेंट प्रोफ़ेसर की बहाली से संबंधित मामले की सुनवाई की

जस्टिस मोहित कुमार शाह ने श्वेता भारती व अन्य की याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए फ़िलहाल परिणाम घोषित करने पर रोक लगा दी है ।

कोर्ट ने कहा कि इस रिट याचिका के अंतिम परिणाम पर रिज़ल्ट निर्भर करेगा है । याचिकाकर्ता के अधिवक्ता पुरुषोत्तम कुमार झा ने कोर्ट को बताया कि अभ्यर्थियों की गणना के अनुसार बिहार राज्य विश्वविद्यालय सेवा आयोग द्वारा उन्हें अंक नहीं दिए गए ।

बहाली में जेनरल श्रेणी में आने वाले अभ्यर्थियों के लिए 81 मार्क्स का कटऑफ़ निकाला गया था।याचिकाकर्ताओं ने आरोप लगाया है कि उनके योग्य रहने के बावजूद उन्हें साक्षात्कार के लिए नहीं बुलाया गया,जबकि मानदंड के अनुरूप कुल बहाली के तीन गुना अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाना चाहिए लेकिन ऐसा नहीं किया गया ।

PatnaHighCourt
#PatnaHighCourt

याचिकाकर्ता के अधिवक्ता ने कोर्ट को बताया कि आयोग ने दुर्भावनापूर्ण तरीक़े से अभ्यर्थियों के व्यक्तिगत परिणाम नहीं प्रकाशित किए।

साथ ही तथ्यों को तोड़ मोड़ कर कोई गड़बड़ी करने की फ़िराक़ में हैं । इस मामले की अगली सुनवाई 18 अगस्त को होगी ।

शराब कारोबारियों के खिलाफ जहानाबाद जीआरपी की कार्रवाई, 55 बोतलों के साथ एक तस्कर गिरफ्तार

सरकार भले ही शराबबंदी को सफल बनाने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपना रही है। लेकिन शराब तस्कर भी अपने धंधे को निरंतर जारी रखे हुए हैं।

इसी कड़ी में जहानाबाद कोर्ट स्टेशन पर रेल थाने की पुलिस ने झारखंड से बिहार ला रहे अंग्रेजी शराब की बड़ी खेप के साथ एक तस्कर को गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गए तस्कर के पास से 36 बोतल अंग्रेजी शराब के साथ साथ 19 केन वीयर बरामद किए गए है। गिरफ्तार तस्कर से पुलिस पूछताछ करने में जुटी हुई है।

बताया जाता है कि इस तस्करी गिरोह में और लोग शामिल थे जो पुलिस की छापेमारी देख भाग निकले। पुलिस अधिकारी भुनेश्वर राम के मुताबिक पटना से गया जा रही मेमो पैसेंजर ट्रेन में शराब तस्करी करने का गुप्त सूचना प्राप्त हुआ था जिसके आधार पर कोर्ट स्टेशन पर छापेमारी करते हुए ट्रेन के एक डिब्बे से अंग्रेजी शराब की 36 बोतल 19 वीयर बरामद किए गए है साथ ही एक तस्कर को भी गिरफ्तार किया गया है।

तस्कर गिरफ्तार

पकड़ा गया तस्कर जहानाबाद शहर के बड़ी संगत निवासी जितेंद्र कुमार बताया जाता है। पुलिस गिरोह के अन्य सदस्यों के गिरफ्तारी के लिए उनके ठिकानों पर छापेमारी करने में जुटी हुई है। रेल पुलिस के द्वारा की गई कार्रवाई के बाद शराब तस्करी करने वाले लोगों के बीच हड़कंप मच गया है।

बिहार कैबिनेट मीटिंग में कुल 23 एजेंडों पर लगी मुहर

सीएम नीतीश की अध्यक्षता में बिहार कैबिनेट मीटिंग खत्म, कुल 23 एजेंडों पर लगी मुहर। मुख्य सचिवालय में चल रही थी बैठक।

किसान के डीजल पर मिलने वाला अनुदान बढ़ाया गया। 60 रुपये से 65 किया गया।

अनुवांशिक बीमार को लेकर अनुदान परिवार वालो को दिया जाएगा। 6 लाख रुपए परिवार को मिलेगा।

nitish

बिहार पुलिस सेवा संवर्ग में 181 पद सृजित किये गए है। इसमें SP ASP के साथ कई पद है दरभंगा मुजफ्फरपुर भागलपुर सहित कई जिलों में अब ग्रामीण SP होंगे।

ट्राफिक बिभाग में 16 पद सृजित किये गए हैं

साइबर क्राइम के लिए 405 पद सृजित किये गए हैं।
अब बिहार में ट्रैफिकिंग का भी पद होगा।

बुडको में 178 इंजीनियर के पद का सृजन किया गया है।

पटना हाईकोर्ट में लोकायुक्त व अन्य सदस्यों के रिक्त पड़े पदों को भरने के लिए दायर जनहित याचिका पर सुनवाई टल गयी

चीफ जस्टिस संजय करोल की खंडपीठ वेटरन फोरम द्वारा दायर जनहित याचिका पर सुनवाई कर रही हैं।

इस जनहित याचिका में यह कहा गया कि भारत में भ्रष्टाचार के बड़े बड़े मामलें में प्रभावशाली लोग लिप्त रहते हैं।इस प्रकार के मामलों को देखने के लिए लोकायुक्त के संस्था की स्थापना की गई है।

बिहार में फरवरी,2022 से लोकायुक्त व अन्य सदस्यों के पद रिक्त पड़े हैं।इसके पहले फरवरी,2017 में पटना हाईकोर्ट के पूर्व जज जस्टिस श्याम किशोर शर्मा बिहार के लोकायुक्त पद पर आसीन हुए।

फरवरी,2022 में लोकायुक्त श्याम किशोर शर्मा इस पद से सेवानिवृत हुए। उसके बाद से ये पद रिक्त पड़ा हैं।1973 में इसकी स्थापना सरल व त्वरित न्याय दिलाने के लिए की गई है।

याचिकाकर्ता के अधिवक्ता दीनू कुमार ने बताया कि इस दौरान लगातार पीड़ित लोगों द्वारा मामलें दायर किये जा रहे हैं, लेकिन इन महत्वपूर्ण पदों पर नियुक्तियां नहीं होने के कारण बड़े पैमाने पर मामलें बड़ी संख्या में सुनवाई के लिए लंबित पड़े हैं।

PatnaHighCourt
#PatnaHighCourt

उन्होंने बताया कि इससे वादों का निपटारा नहीं हो पा रहा हैं। इससे जहां लोगों की कठिनाइयां बढ़ी है,वहीं लोगों में असंतोष की भावना लगातार बढ़ रही हैं।

अधिवक्ता दीनू कुमार ने बताया कि लोकायुक्त कार्यालय में दो जज और एक सदस्य अन्य क्षेत्र से लिए जाते हैं।पटना हाईकोर्ट के पूर्व जज मिहिर कुमार झा और कीर्ति चन्द्र साहा 17मई,2021 को सेवा निवृत हो गए।

सरकार को लोकायुक्त समेत अन्य रिक्त पदों को शीघ्र भरे जाने की जरूरत हैं,ताकि इन मामलों का निपटारा हो सके और लोगों को न्याय मिल सके।

इस संस्था का दुरपयोग नहीं हो इसके लिए काफी सख्त कानून बनाए गए हैं।अगर कोई व्यक्ति किसी को भ्रष्टाचार के झूठे आरोप में फंसाने के लिए मामला दर्ज कराएगा,तो वह स्वयम फंस जाएगा।उसके विरुद्ध तीन वर्ष कैद की सजा और पाँच हज़ार रुपये तक आर्थिक दंड का भी प्रावधान है।

इस मामलें पर अगली सुनवाई 11अगस्त,2022 को की जाएगी।

आरजेडी के निशाने पर केंद्र की मोदी सरकार, 7 अगस्त को महागठबंधन का आक्रोश मार्च

राष्ट्रीय जनता दल के वरीय नेता और बिहार विधानसभा की विरासत समिति के सभापति भाई वीरेंद्र जहानाबाद पहुंचे। जहां महंगाई को लेकर पीएम मोदी पर तंज कसा है।

भाई वीरेंद्र ने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि अंग्रेजों से देश को आजाद कराया और रंगरेजों से भी आजाद कराएंगे।’ उन्होंने कहा कि केंद्र की वर्तमान सरकार युवाओं, किसानों और आमलोगों को ठगने का काम कर रही है। देश में महंगाई और बेरोजगारी चरम पर है। बेरोजगारों को रोजगार नहीं मिल रहा है, लेकिन इस विषय पर सरकार बात नहीं कर रही है।

भाई बिरेंद्र ने छपरा की घटना को लेकर शराबबंदी को फेल बताया। इस सवाल सवाल पर कि बड़े बड़े मुद्दों को लेकर जब विपक्ष को सड़क पर होना चाहिए विपक्ष गायब होता है। इस पर उन्होंने कहा कि हम सड़क से सदन तक जनता की लड़ाई लड़ रहे हैं।

bhai birender

7 अगस्त को आरजेडी के साथ ही महागठबंधन के सभी दल राज्य भर में आक्रोश मार्च निकालेंगे।

जम्मू कश्मीर में एक बार फिर से टारगेट किलिंग, बिहार के मजदूर की मौत पर गांव में मातम

पुलवामा के गदूरा इलाके में आतंकियों के ग्रेनेड अटैक में एक प्रवासी मजदूर की जान चली गई वहीं दो मजदूर घायल हो गए हैं। बता दें कि 5 अगस्त को आर्टिकल 370 हटाए जाने की तीसरी बरसी है।

इससे पहले आतंकियों ने हमला किया है। पुलिस का कहना है कि इलाके में तलाशी अभियान चलाया गया है। मारे गए मजदूर की पहचान मोहम्मद मुमताज के रूप में हुई है जो कि बिहार के सकवा परसा का रहने वाला था। घायलों का इलाज पुलवामा के जिला अस्पताल में चल रहा है।घायलों के नाम मोहम्मद आरिफ और मोहम्मद मजबूल बताए गए हैं।

ये दोनों ही बिहार के रामपुर के रहने वाले थे। पुलिस का कहना है कि दोनों की ही हालत स्थिर है। इस हमले की निंदा करते हुए श्रीनगर के पूर्व डिप्टी मेयर शेख इमरान ने कहा कि हिंसा को किसी भी रूप में स्वीकार नहीं किया जा सकता।

पूर्ण शराबबंदी के बावजूद जारी है शराब का सेवन, छपरा में 1 साल में 50 की मौत

बिहार में पूर्ण शराबबंदी है लेकिन इसके बावजूद शराब से महिलाओं का सुहाग उजड़ रहा है। पिछले 1 साल में छपरा में बात करें तो शराब के कारण 50 से अधिक मौतें हुई हैं। इनमें कई मौतें प्रशासन की नजर में नहीं है।

छपरा के मकेर में शराब कांड की घटना के बाद एक बार फिर महिलाओं की आंखों में आंसू है और महिलाएं पूछ रही है कि सरकार बताइए कि शराबबंदी क्यों सफल नहीं है। छपरा शराब कांड में मृतकों की संख्या 9 पहुंच चुकी है जबकि 30 से अधिक लोग अब भी में बीमार है।

छपरा सदर अस्पताल में भी 11 मरीजों का इलाज चल रहा है जिसमें कुछ की हालत गंभीर है। बीमार लोगों में मकेर के भाथा नोनिआटोली के कामेश्वर महतो और लखन महतो का नाम भी शामिल है जिनकी की हालत अब गंभीर हो गई है। कामेश्वर महतो की पत्नी सुकांति देवी का रो रो कर बुरा हाल है। पति ने गांव में हुए पूजा के दौरान शराब पी थी और अब बीमार है। नौ लोगों की मौत हो चुकी है लिहाजा सुकांति देवी की आंखों में भय साफ तौर पर देखा जा सकता है।

सुकांति के तीन बच्चे हैं ऐसे में अगर कामेश्वर की मौत होती है तो बच्चों का क्या होगा इसकी चिंता अभी से ही सुकांति के चेहरे पर नजर आ रही है लेकिन सुकांति ने कामेश्वर का हाथ काफी मजबूती से थाम रखा है। उसे डर है कि कहीं हाथ छोड़ने पर जिंदगी की डोर न टूट जाए। कुछ ऐसी हालत सदर अस्पताल में भर्ती लखन महतो की भी है जिसने शराब पी और उसकी तबीयत बिगड़ गई। पत्नी लखनऊ में थी। घटना की सूचना मिली तो किसी तरह तरह भागते हुए छपरा सदर अस्पताल पहुंची और अब पति के पास डॉक्टर से उम्मीद लगाए बैठी है।

लगातार आ रही मौत की खबरों से लखन महतो की पत्नी ज्ञानती देवी के चेहरे पर भय साफ तौर पर देखा जा सकता है। ज्ञानती देवी देवी अपने पति के हाथ को पकड़ कर रखा है मानव छोड़ना नहीं चाहती कि कहीं पति उसे छोड़कर ही ना चला जाए। पास में बैठा बच्चा पापा को तड़पते देख रहा है। उसने कई बार पापा को रोका कि पापा शराब मत पियो लेकिन पापा ने शराब पी और अब हालत आपके सामने हैं।