Press "Enter" to skip to content

Bihar News in Hindi: The BiharNews Post - Bihar No.1 News Portal

बिहार के युवा को दिग्विजय सिंह और नरेन्द्र सिंह की राजनीति से सीख लेनी चाहिए

बिहार की राजनीति में दिग्विजय सिंह ‘दादा’ और नरेन्द्र सिंह दो ऐसे शख्सियत हुए हैं जो अपनी राजनीतिक शैली के सहारे लालू प्रसाद और नीतीश कुमार को सीधी चुनौती ही नहीं दी उनके मांद में घुसकर उन्हें हराया है।

दादा तो कई वर्ष पहले इस दुनिया से चले गये और नरेन्द्र सिंह भी अब इस दुनिया में नहीं रहे, लेकिन बिहार के ऐसे युवा जो राजनीति में कदम रखना चाहते हैं उनके लिए बिहार की राजनीति का ये दो चाणक्य एक ऐसा मूल मंत्र छोड़ कर गये हैं ,जिसके सहारे बिहार जैसे राज्य में भी जहां जाति और समाजिक समीकरण के मजबूत राजनीतिक ताना बाना के बावजूद भी सुचिता के साथ सत्ता में हिस्सेदारी कैसे प्राप्त किया जा सकता है इनके राजनीतिक शैली से आप सीख सकते हैं ।

संयोग ऐसा रहा है कि इन दोनों शख्सियत की राजनीति को नुझे करीब से देखने और समझने का मौका मिला है 2009 के लोकसभा चुनाव में दादा बांका से चुनाव लड़ना चाहते थे लेकिन नीतीश कुमार उनका टिकट काट दिया याद करिए नीतीश कुमार की छवि उस समय बिहार में मिस्टर क्लीन और सुशासन बाबू के रूप में था और नीतीश कुमार की राजनीति परवान पर था ऐसी स्थिति में एक तरफ नीतीश कुमार का उम्मीदवार तो दूसरी तरफ लालू प्रसाद का उम्मीदवार चुनावी मैदान में था,और उस स्थिति में दादा नीतीश कुमार की चुनौती को स्वीकार करते हुए नीतीश कुमार को बांका लोकसभा चुनाव में ऐसी पटखनी दिया कि उस हार से फिर नीतीश कुमार उबर नहीं पाये और जदयू का जुमई और बांका में जो गढ़ 2009 में टूटा उस पर आज जदयू की वापसी नहीं हो पाई है।

क्यों कि नीतीश कुमार इन इलाकों में बड़ी मजबूती के साथ यादव राजनीति के खिलाफ अति पिछड़ों की राजनीति को खड़ा किया था और उसके सहारे लालू प्रसाद के गढ़ को पूरी तरह से तबाह कर दिया था लेकिन नीतीश की इसी राजनीति के सहारे दादा ने नीतीश कुमार द्वारा अति पिछड़ा उम्मीदवार देने के बावजूद भी जदयू को भी और राजद के उम्मीदवार को भी हरा दिया । मुझे याद है बिहार में लोकसभा 2009 के चुनाव में जदयू और भाजपा की ऐतिहासिक जीत के बावजूद भी नीतीश कुमार बांका के हार से इतने विचलित थे कि मीडिया से बात करने तक के लिए बाहर नहीं निकले।

2009 का लोकसभा चुनाव दादा कैसे जीते यह समझने कि जरूरत है नीतीश कुमार दादा के खिलाफ उनके ही सबसे करीबी अति पिछड़ा समाज से आने वाले दामोदर राउत को चुनावी मैदान में उतारा था और प्रदेश के सारे मंत्री को बांका में उतार दिया लेकिन दादा का साफ-सुथरी छवि के साथ साथ अपनी राजनीति शैली की वजह से नीतीश कुमार के पूरी ताकत लगाने के बावजूद अति पिछड़ा, महादलित,सवर्ण और बड़ी संख्या में मुसलमान वोटर मजबूती के साथ दादा के साथ खड़ा रहा और दादा ने राजद और जदयू को के प्रत्याशी को लाखों वोट से हरा दिया ।मतलब आपकी छवि साफ-सुथरी है और बिहार के सामाजिक और जातिगत राजनीति की समझ है तो आपके पास अपनी जाति का वोट हो या ना हो आप बिहार में राजनीति भी कर सकते हैं और विधायक सांसद भी बन सकते हैं। इसी तरह 2020 के विधानसभा चुनाव में भी नरेन्द्र सिंह भले ही नीतीश के साथ आ गये थे लेकिन विधानसभा चुनाव में चकाई विधानसभा क्षेत्र से उनके बेटे का नीतीश कुमार ने टिकट काट दिया और नरेंद्र सिंह की राजनीतिक विरासत खत्म हो जाये इसके लिए सुशील मोदी के साथ मिल कर दादा की बेटी श्रेयसी सिंह को जमुई से टिकट दे दिलवा दिया ताकी राजपूत वोटर नरेन्द्र सिंह के परिवार का टिकट काटने से एग्रेसिव ना हो ।

नीतीश के इस फैसले के पीछे भी वही सोच थी कि इस बार दादा की तरह नरेंद्र सिंह के राजनीतिक विरासत को भी खत्म कर देना है ।इसी चुनाव के दौरान नरेन्द्र सिंह से प्रचार अभियान के दौरान एक गाँव में मुलाकात हो गयी जबकि पहले से कोई तय नहीं था लेकिन मुलाकात हो गयी तो तीन घंटा उसी गाँव में रुक गये वो गाँव मुसलमान और अति पिछड़ा वोटर का था ।

गांव के ही एक दरवाजे पर मुसलमान और अति पिछड़ा दोनों वर्ग के वोटर साथ बैठे थे मेरा परिचय उन मतदाताओं से कराया गया ये संतोष जी है बिहार के प्रखंर पत्रकार हैं मुजफ्फरपुर बालिकागृह वाला मामला यही निकाले थे । ऐ मौलाना सुनो बिहार के एक मात्र यही पत्रकार हैं जो तुम्हारे साथ हमेशा खड़े रहते हैं इन्हें लोग बिहार का रवीश कुमार कहते हैं रवीश कुमार इनके बहुत अच्छे मित्र है । मैं असहज महसूस कर रहा था कि ये मेरा राजनीतिक इस्तमाल करे रहे है मैं निकलना चाह रहा था लेकिन नरेन्द्र सिंह छोड़ने को तैयार नहीं थे तभी वो अपने बॉडीगार्ड से मोबाइल मंगवाये ये देखो संतोष जी का हर खबर पढ़ते हैं देखो कैसे लिखते हैं तुम लोगों के बारे में । ये मेरी तारीफ नहीं कर रहे थे मेरे सहारे ही अपने वोटर को संदेश देना चाहते थे कि मैं धर्मनिरपेक्षता वाली राजनीति में विश्वास करते हैं और परिणाम क्या हुआ नरेंद्र सिंह के पुत्र निर्दलीय चुनाव जीत कर विधानसभा पहुंचा और नीतीश को मंत्री भी बनाना पड़ा इतना ही नहीं हाल ही में विधान परिषद का जो चुनाव हुआ उसमें ललन सिंह के उम्मीदवार को जमानत जब्त करवा कर संदेश दे दिया कि इस इलाके का चाणाक्य मैं ही हूं । दादा से तो उस तरह बातचीत करने का मौका नहीं मिला लेकिन नरेन्द्र सिंह से तो तीन चार दिन में एक बार बातचीत हो ही जाती थी बिहार की राजनीति को लेकर उनका स्पष्ट राय था संतोष जी बिहार का सर्वण का हाल और भी बुरा होने वाला है देखते रहिएगा गिनती का विधायक सांसद आने वाले दिनों में नहीं मिलेगा ।

ये जो बीजेपी है ना जिसको लेकर सब छोरा सब पगलाया हुआ है संतोष जी बीजेपी जो राजनीति करती है वो धर्म और धंधा (बनिया)की राजनीति करती है जो बिहार के सवर्ण के लिए बहुत ही घातक है। बिहार का सवर्ण समाज खेतिहर समाज है मेहनत करने वाला समाज है जिसके कारण उसका रोजना का सम्बन्ध गांव के दलित.अति पिछड़ा और मुसलमानों के साथ रहता है और ये सम्बन्ध पीढ़ी दर पीढ़ी से चली आ रही है इसके सहारे राजनीति करना सर्वण को सूट भी करेगा और यही समाजवाद का मूल मंत्र भी है ।देखिए लालू प्रसाद के शासन काल में बिहार में सवर्ण राजनीति कहां खड़ा था और नीतीश और सुशील मोदी के साथ जब से आया है कहां चला गया सारे स्थापित नेताओं को नीतीश और मोदी चुन चुन कर समाप्त कर दिया है ।

कोई बचा है देखिए मुझे कम तबाह किया है वजह क्या है बिहार का सर्वण वोटर हिन्दू मुसलमान में इस तरह उलझ गया कि वो राजनीति ही भूल गया बताइए संतोष जी रघुवंश बाबू जैसे लोगों को वैशाली में राजपूत वोट नहीं दिया इससे बड़ा अनर्थ और क्या हो सकता है । दो घंटे से हम लोग साथ बैठे हैं देख ही रहे हैं पदाधिकारी और समाज के लोग क्या क्या फरियाद लेकर आ रहे है इन मूर्खों को कौन समझाये बिहार में पदाधिकारियों का तबादला और पोस्टिंग कैसे होता है संतोष जी आपसे छुपा है । दिन भर ऑफिस में बैठकर हिन्दू मुसलमान करेंगा और शाम में मेरे पास पहुंच जायेंगा सर चार वर्ष से सचिवालय में सड़ रहे हैं देखिए सीओ परेशान किये हुए है देखिए थाना प्रभारी परेशान किये हैं कौन इसको समझाये कि जब आपको अपने नेता को ताकत देना का समय रहता है तो आप देश की बात करने लगते हैं हिन्दू मुसलमान की बात करने लगते हैं । संतोष जी हम लोग तो पूरी मजबूती के साथ अपनी पारी खेल लिये कोई अफसोस नहीं है आने दीजिए समय यही समझदारी रही ना तो विधायक और सांसद की कौन कहे ये लोग मुखिया तक बन नहीं पाएगा ।

बिहार दौरे पर आयीं राष्ट्रपति प्रत्याशी श्रीमती द्रौपदी मुर्मू का स्वागत करते माननीय मुख्यमंत्री नितीश कुमार

माननीय मुख्यमंत्री नितीश कुमार बिहार दौरे पर आयीं राष्ट्रपति प्रत्याशी श्रीमती द्रौपदी मुर्मू का स्वागत करते हुए

यह खबर भी पढ़ें…

दानापुर के रुपसपुर में संदिग्ध परिस्थिति में मिला पूर्व जिला परिषद सदस्य का शव, परिजनों ने जताई हत्या की आशंका

नौबतपुर के पूर्व जिला परिषद राकेश उर्फ गुड्डू सिंह का शव उनके फ्लैट से संदिग्ध परिस्थिति में बरामद किया गया है। बताया जाता है गुड्डू सिंह वर्तमान में नौबतपुर के टिसखोरा के वार्ड सदस्य भी हैं गुड्डू सिंह रूपसपुर थाना क्षेत्र के वैश्वशरैया नगर में साकेत सदन के फ्लैट में रहते थे। उसी फ्लैट में उनका शव बरामद किया गया है।

शव जहां जिस कमरे से बरामद किया गया है उसके आसपास खून के धब्बे भी दिखाई दे रहे हैं। जिससे परिजन हत्या की आशंका जता रहे हैं जता रहे हैं उनका कहना है कि इनकी हत्या की गई है।

घटनास्थल पर जानकारी के बाद रूपसपुर पुलिस भी मौके पर पहुंची साथ ही दानापुर डीएसपी एएसपी अभिनव धीमान भी पहुंचे हैं और मामले की तफ्तीश कर रहे हैं। इनका कहना है कि अभी मामले की तफ्तीश चल रही है पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा कि किस तरह से हत्या की गई है फिलहाल मामला संदिग्ध लग रहा है।

परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है जिसे नकारा नहीं जा सकता उसकी जांच पुलिस कर रही है बताया जाता है कि काफी दिनों से यह यह रह रहे थे इनका किनके साथ उठना बैठना और घर पर आना जान था सभी की तफ्तीश होगी। आसपास के सीसीटीवी को भी खंगाला जा रहा है।

पूर्व जिला परिषद सदस्य का शव

पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह का निधन, समाज के लिए अपूरणीय क्षति, जहानाबाद में शोक सभा का आयोजन

जहानाबाद में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के प्रदेश संयोजक वीरेंद्र कुमार सिंह एवं प्रदेश प्रवक्ता संजय कुमार सिंह ने संयुक्त बयान जारी कर कहा कि बिहार के पूर्व मंत्री नरेन्द्र सिंह के आकस्मिक निधन से समाज को क्षति हुई है।

महासभा के प्रदेश संयोजक ने कहा कि वे महान समाजवादी चिंतक, ईमानदार व सादगी के प्रतीक के रूप में जाने जाते थे। उनके जाने से एक युग का अंत हो गया। वे जेपी आंदोलन के प्रखर सेनानी थे। नरेंद्र बाबू ने अपनी राजनीती पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ के महासचिव पद से किया। वे क्षेत्र में काफी लोकप्रिय और जमीनी नेता थे।

पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह

महासभा के प्रदेश प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि लालू सरकार में स्वास्थ्य मंत्री और नीतीश सरकार में कृषि मंत्री थे। उनके पिता भी प्रदेश के मंत्री रह चुके थे। उनके निधन पर क्षत्रिय समाज के सतेंद्र सिंह, मुकेश सिंह, गोपाल शरण सिंह, महेंद्र सिंह, कुंदन कुमार विमल, राजेश सिंह, अमन राजपूत, मनोज कुमार सिंह, रोहित सिंह, निरंजन बबलू, पवन सिंह ने शोक प्रकट किया है।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू आज पटना पहुंच रही है, जाने पूरा शेड्यूल

10:00 बजे दिन में चार्टर्ड फ्लाइट से पटना एयरपोर्ट पहुंचेंगे जहां बीजेपी के नेता उनका स्वागत करेंगे

10 20 में द्रौपदी मुरमू सचिवालय स्थित बिरसा मुंडा के मूर्ति पर माल्यार्पण करेंगे

10:30 पर भारतीय जनता पार्टी के ऑफिस के पास भारतीय जनता महिला मोर्चा की महिलाओं के द्वारा उनका स्वागत समारोह होगा

10 45 में फ्रेजर रोड स्थित बाटा के पास अनुसूचित जाति जनजाति के लोगों के द्वारा उनका स्वागत होगा

1055 में होटल मौर्या पहुंचेंगे जहां भाजपा अन्य दलों के नेताओं के साथ उनकी बैठक होगी

1:00 से 1:30 के बीच होटल मौर्यासे निकलकर वह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उनके आवास पर मुलाकात करने जाएंगी।

2:00 बजे दिन में विशेष चार्टर्ड फ्लाइट से वह पटना से रवाना हो जाएंगी

द्रौपदी मुर्मू

सारण के एकमा पहुंच जेपी सेनानियों से मिले प्रशांत किशोर, जन सुराज की सोच को लेकर छपरा में किया संवाद

प्रशांत किशोर ‘जन सुराज’ अभियान के तहत बिहार के विभिन्न जिलों का दौरा कर रहे हैं। इसी क्रम में वे सोमवार 4 जुलाई को सारण पहुंचे। जिले में कई अलग अलग कार्यक्रमों में भाग लेते हुए प्रशांत किशोर ने समाज के प्रबुद्ध नागरिकों, युवाओं, महिलाओं, शिक्षकों, चिकित्सकों, अधिवक्ताओं से जन सुराज की सोच पर संवाद किया। लोगों ने भी प्रशांत किशोर से जन सुराज के बारे में जाना और सभी जरूरी सवाल पूछे। प्रशांत किशोर ने सभी सवालों के जवाब दिए और जन सुराज की परिकल्पना को लोगों के सामने रखा।

जन सुराज का अगर कोई दल बनेगा तो, वो बिहार के सभी सही लोगों का दल होगा
प्रशांत किशोर ने जन सुराज के विचार को रेखांकित करते हुए बताया कि जन सुराज के माध्यम से वह लोगों के साथ संवाद स्थापित करना चाहते हैं। प्रशांत किशोर ने कहा, “उद्देश्य है बिहार में एक नई राजनीतिक व्यवस्था बनाना। सत्ता परिवर्तन हमारा मकसद नहीं है। अगर पदयात्रा के बाद सब लोगों की सहमति से कोई दल बनता भी है तो वो बिहार के सभी सही लोगों का दल होगा, प्रशांत किशोर का दल नहीं होगा। सब मिलकर अगर तय करेंगे तो दल बनाया जाएगा। मैं अभी लोगों से बात करने, उनकी समस्याओं को समझने में अपना पूरा वक्त लगा रहा हूं।”

60 के दशक से ही बिहार विकास के मामले में पिछड़ता चला गया
बिहार की बदहाली पर बात करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि पिछले 30 साल की सरकारों ने जो अच्छे काम किए हैं उसे स्वीकार करने में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए। चाहे लालू जी के सामाजिक न्याय की बात हो या नीतीश जी के आर्थिक विकास की बात हो, लेकिन सच्चाई यह है की 60 के दशक के बाद से ही बिहार विकास के तमाम मापदंडों पर पिछड़ता चला गया और आज बिहार विकास लगभग मामले में देश में सबसे निचले पायदान पर है। अगर यहां से बिहार को फिर से विकास के तमाम सूचकांक में देश के अग्रणी राज्यों में खड़ा करना है तो सभी सही लोगों को एक साथ आना होगा और मिलकर प्रयास करना होगा।

पदयात्रा के माध्यम से समाज के हर वर्ग तक पहुंचने का प्रयास करेंगे
प्रशांत किशोर ने कहा की वह 2 अक्तूबर से पश्चिम चंपारण के गांधी आश्रम से पदयात्रा शुरू करेंगे। इस पदयात्रा के माध्यम से वो बिहार के हर गली-गांव, शहर-कस्बों के लोगों से मुलाकात करेंगे और उनकी समस्याओं को सुनेंगे। उनसे समझेंगे कि कैसे बिहार को बेहतर बनाया जा सकता है। पदयात्रा में जब तक पूरा बिहार पैदल न चल ले, तब तक वापस पटना नहीं जाएंगे। समाज में ही रहेंगे और समाज को समझने का प्रयास करेंगे। समाज को मथ कर सही लोगों को एक मंच पर लेकर आएंगे।

जहानाबाद पहुंचे राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष, आयोग के अंतर्गत आने वाली संस्थाओं के साथ की बैठक

राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष विद्यानंद विकल जहानाबाद पहुंचे जहां उन्होंने काय का कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया। परिसदन में विभिन्न विभागों के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। इस दौरान कार्यों की समीक्षा की एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिया।

बैठक में जिला आपूर्ति पदाधिकारी,आईसीडीएस के कार्यक्रम पदाधिकारी, मध्याह्न भोजन योजना के कार्यक्रम पदाधिकारी सहित, एसएफसी के पदाधिकारी,प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी,गोदाम प्रबंधक आदि मौजूद थे। आयोग के अध्यक्ष ने आयोग के अन्तर्गत आने वाली जन वितरण,आंगनबाड़ी,मध्याह्न भोजन योजना से संबंधित पदाधिकारियों के साथ बैठक कर समीक्षा की।

उन्होंने खाद्य सुरक्षा को लेकर चलाये जा रहे योजनाओं में पारदर्शिता लाने एवं योजनाओं के सफल क्रियान्वयन को लेकर पदाधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिया। बैठक में आयोग के अध्यक्ष द्वारा एसएफसी के गोदामों की स्थिति,उसकी क्षमता, वहां से उठाव एवं वितरण के कार्य इत्यादि की भी समीक्षा की ।

उन्होंने कहा अनाज का उठाव एवं वितरण इसे प्रभावी रूप से क्रियान्वयन कराना हमारा लक्ष्य है। और आपूर्ति विभाग, शिक्षा विभाग से संबंधित मध्यान भोजन, एवं आई सी डी एस से संबंधित पोषाहार वितरण जैसी योजनाएं बहुत ही महत्वपूर्ण योजना है। इसके क्रियान्वयन में पारदर्शिता हर-हाल में सुनिश्चित हो।इसमें किसी भी तरह की गड़बड़ी पर जिम्मेदारी तय की जाएगी।

उन्होंने जिला आपूर्ति अधिकारी को निर्देश दिया कि खाद्यान्न से संबंधित योजनाओं का प्रचार-प्रसार किया जाए। ताकि आम लोग इससे अवगत हो सके और इसका लाभ उठा सकें। राशन वितरण में गड़बड़ी करने वाले पीडीएस दुकानदारों पर कार्रवाई करने का निर्देश भी उनके द्वारा दिया गया।

उन्होंने पीडीएस दुकानों में राशन उठाव एवं वितरण की व्यवस्था दुरूस्त करने के साथ ही विद्यालयों में चल रहे मध्याह्न भोजन, आंगनबाड़ी केंद्रों में वितरित किये जाने वाले पोषाहार आदि योजनाओं को लेकर भी पदाधिकारियों को निर्देश दिया साथ ही योजनाओं की मॉनिटरिंग को लेकर तत्पर रहने की बात कही। घोसी के कई विद्यालयों में जीविका दीदियों द्वारा उपलब्ध कराया जा रहा है भोजन को बंद होने पर भी विकल ने संज्ञान लिया और जल्द ही व्यवस्था कराने की बात कही।

राज्य खाद्य आयोग

विद्यानंद विकल ने साथ ही यह भी कहा कि आंगनवाड़ी केंद्रों पर अब बच्चों को दिए जाने वाले भोजन की सूची जारी की जाएगी।

पटना हाईकोर्ट ने पटना-गया-डोभी एनएच 83 फोर लेन के मामले में सुनवाई की

चीफ जस्टिस संजय करोल की खंडपीठ समक्ष अधिवक्ताओं की कमिटी ने अपनी रिपोर्ट पेश किया।इस मामलें पर अगली सुनवाई 7 जुलाई,2022 को होगी।

इस मामलें पर पिछली सुनवाई के दौरान कोर्ट को बताया गया कि पटना गया डोभी एन एच,83 के निर्माण में कई तरह की कठिनाइयां और समस्याएं आ रही हैं।कोर्ट ने इस निर्माणधीन एन एच के स्थल निरीक्षण करने के लिए तीन अधिवक्ताओं की टीम का गठन किया गया था। अधिवक्ता प्रिय रंजन,आलोक कुमार राही और याचिकाकर्ता के अधिवक्ता मनीष गुप्ता इसमें शामिल थे।

साथ ही कोर्ट ने पटना और जहानाबाद के डी एम, एस पी भी इस टीम के साथ रहने का निर्देश दिया था।आज कोर्ट में सुनवाई के दौरान इस कमिटी ने निरीक्षण करने ये रिपोर्ट दिया। ये जनहित याचिका प्रतिज्ञा नामक संस्था ने दायर किया हैं।

PatnaHighCourt
#PatnaHighCourt

पिछली सुनवाई में कोर्ट ने केंद्र व राज्य सरकार और एन एच ए आई को निर्देश दिया था कि एन एच में सभी अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई शीघ्र करें।कोर्ट ने सम्बंधित ज़िला प्रशासन को अतिक्रमण हटाने में सहयोग और पुलिस बल मुहैय्या कराने का निर्देश दिया था।

साथ ही बिजली के पोल,पेड़ों की कटाई की कार्रवाई करने का निर्देश दिया था। राज्य सरकार ने कोर्ट को जानकारी दी थी कि वह एन एच निर्माण में हर तरह का सहयोग कर रही हैं।कोर्ट को बताया गया कि निर्माण आने वाले सभी समस्यायों के समाधान के लिए राज्य सरकार तत्पर हैं।

कोर्ट ने पिछली सुनवाई में ज़िला प्रशासन को, जिनका भूमि अधिग्रहण किया गया है, उन्हें मुआवजा देने की कार्रवाई में तेजी लाने का निर्देश दिया था।

इस मामलें पर अगली सुनवाई 7जुलाई,2022 को होगी।

पटना हाईकोर्ट ने ट्राइबल रिसर्च इंस्टिट्यूट को अबतक स्थापित नहीं किये जाने को गम्भीरता से लेते हुए राज्य सरकार से पूछा है कि ये कब तक स्थापित होगा

इस जनहित याचिका की सुनवाई चीफ जस्टिस संजय करोल की खंडपीठ ने की। ये जनहित याचिका बिहार आदिवासी अधिकार फोरम ने की है।

ट्राइबल रिसर्च इंस्टिट्यूट वास्तव में आदिवासी विकास,उनकी संस्कृति और विरासत व योजना और कानून बनाने के लिए आधार उपलब्ध कराता है।इस बारे में सरकारी अधिवक्ता प्रशांत प्रताप ने कोर्ट को बताया कि राज्य सरकार इसके लिए कार्रवाई कर रही है।

उन्होंने कोर्ट को बताया कि 30 जून,2022 को बिहार के मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक बैठक हुई।इसमें तीन महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए।

PatnaHighCourt
#PatnaHighCourt

एस सी व एस टी कल्याण विभाग के सचिव को निर्देश दिया गया कि वे शीघ्र ट्राइबल रिसर्च इंस्टिट्यूट के स्वीकृत व्यवस्था करें।

साथ ही जबतक केंद्र सरकार योजना के अंतर्गत नए भवन और परिसर नहीं मिल पाता है, सचिव, भवन निर्माण विभाग को निर्देशित किया गया है कि ट्राइबल रिसर्च इंस्टिट्यूट के लिए तीस दिनों में भवन की व्यवस्था करें।

उन्होंने कोर्ट को बताया कि ये भी निर्णय लिया गया कि वैकल्पिक भूमि की तलाश की जा रही हैं।इसमें ट्राइबल रिसर्च इंस्टिट्यूट के लिए म्यूजियम,मेमोरियल,काफ्रेंस हॉल आदि सारी व्यवस्था होगी।इसके लिए राज्य सरकार ने प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजने के लिए 90 दिनों का समय कोर्ट से माँगा।

सुनवाई के दौरान जजों ने कहा कि क्या ट्राइबल रिसर्च इंस्टिट्यूट के अधिकारी प्रतिनियुक्ति पर कार्य कर सकते हैं।याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता विकास पंकज ने कोर्ट के समक्ष पक्ष प्रस्तुत किया।

इस मामलें पर आगे की सुनवाई इस माह में की जाएगी।

पटना हाईकोर्ट ने पटना कर राजीवनगर क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई पर अगले आदेश तक रोक लगा दिया है

जस्टिस संदीप कुमार ने इस मामलें दायर याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए ये आदेश दिया।कल 3 जुलाई,2022 को ज़िला प्रशासन ने सुबह में ही बड़ी संख्या में पुलिस बल और जेसीबी मशीन ले कर अतिक्रमण हटाने गए।इस क्रम में काफी तनाव और पत्थरबाजी हुई।

PatnaHighCourt
#PatnaHighCourt


आज इस मामलें में पटना हाईकोर्ट में याचिकाएं दायर कर प्रशासन की इस कार्रवाई के विरोध में किया गया।कोर्ट ने अगले आदेश तक प्रशासन द्वारा अतिक्रमण की कार्रवाई पर रोक लगाते हुए 6 जुलाई,2022 को सुनवाई की तिथि तय किया है।
इस मामलें में राज्य सरकार और बिहार राज्य आवास बोर्ड के एम डी से पटना हाईकोर्ट ने जवाब माँगा है।

रात में शादी समारोह में शामिल होने गया परिवार, सुबह लौटा तो घर से सामानों की हो गई थी चोरी

जहानाबाद के दक्षिणी दौलतपुर में एक बार फिर से चोरी की घटना सामने आई है। मकान मालिक एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए कल गए थे, आज जब घर वापस लौटे तो सारा सामान बिखरा पड़ा था।

पीड़ित ने बताया कि छत के रास्ते चोर घुसे और दरवाजे को तोड़कर घर में रखे सामानों को चुरा ले गए। गृह मालिक की माने तो एक लाख के जेवर और घर में रखे 40 हजार नगद लेकर चोर चंपत हो गए। चोरी की सूचना पुलिस को दी गई है पूरा मामला क्या है, यह जांच के बाद ही पता चलेगा।

दक्षिणी दौलतपुर में चोरी किए कोई पहली घटना नहीं है इससे पहले भी लगातार चोरी की घटनाएं होती रही है। लेकिन इसके बावजूद भी रात में पुलिस गश्ती का अभाव दिखता है।

बारातियों से भरी स्कॉर्पियो गंगा में डूबी, एनडीआरएफ की टीम तलाश में जुटी

बारातियों से भरी स्कॉर्पियो के गंगा में डूबने का मामला, एनडीआरएफ की टीम लापता स्कॉर्पियो की तलाश में है जुटी।

जेठुली घाट पर एनडीआरएफ की टीम गंगा में चला रही है सर्च ऑपरेशन, गंगा में लापता हुए 2 लोगों की हुई पहचान।नवरतनपुर निवासी 50 वर्षीय अनिल राय, और पोस्टल पार्क निवासी 20 वर्षीय गौतम कुमार हैं लापता।

बीते देर रात नाव पर स्कॉर्पियो चढ़ाने के दौरान स्कॉर्पियो अनियंत्रित होकर गिरा था गंगा में, जेठूली गंगा तट से 20- 25 फीट की दूरी पर गंगा में हुआ था हादसा, घटना के बाद 6 बाराती सकुशल तैरकर नदी से निकले थे बाहर।

जक्कनपुर थानाक्षेत्र के इंदिरा नगर नवरतनपुर से राघोपुर के रामपुर भट्टी गांव जा रही थी बारात।

ganga

जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में मरीज ने किया आत्महत्या

मधेपुरा । जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में मरीज ने किया आत्महत्या। 5 वें तल्ले के रेलिंग से फंदा लगाकर किया आत्महत्या।

बीमारी और आर्थिक तंगी से था परेशान, 28 जून से मेडिकल कॉलेज में था भर्ती।

डायबिटीज और अन बीमारी से था ग्रसित।

suicide

Bihar Breaking News: सीढ़ी से उतरने के दौरान गिरे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव; दाहिने कंधे की हड्डी टूटी, कमर में भी लगी है जबर्दस्त चोट

पटना । सीढ़ी से उतरने के दौरान गिरे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव. दाहिने कंधे की हड्डी टूटी, कमर में भी लगी है जबर्दस्त चोट।

laloo

पटना: राज्य सरकार के निर्देश पर जिला प्रशासन ने राजीव नगर इलाके में धारा 144 लगा दिया है

पटना । नगर में आवास बोर्ड की जमीन का मामला, राज्य सरकार के निर्देश पर जिला प्रशासन ने राजीव नगर इलाके में धारा 144 लगा दिया है। 5 या 5 लोगों से ज्यादा के एक जगह जमा होने पर कानूनी कार्रवाई होगी पटना के एसएसपी ने पूरे मामले की पुष्टि की है।

राजीव नगर में आवास के जमीन पर अतिक्रमण हटाने के दौरान हंगामा झड़प मारपीट का मामला जिला प्रशासन ने 26 लोगों को किया गिरफ्तार 150 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज आईपीसी की कई गंभीर धारा में मामला दर्ज सरकारी काम में बाधा डालने पुलिसकर्मियों से मारपीट करने अधिकारियों पर हमला करने पत्थरबाजी करने के साथ-साथ धाराओं में मामला दर्ज किया गया है राजीव नगर थाने में मामला दर्ज।

कल भी चलेगा अभियान 5 मकानों में रहने वाले परिवारों को आज रात का दिया गया समय। 40 एकड़ जमीन कर लिया गया है कब्जे में:- डीएम पटना

इस खबर के बारे में और पढ़ें…

5 जुलाई को हाजीपुर जाएंगे हजारों कार्यकर्ता, एलजेपी ने दी जानकारी, रामविलास की प्रतिमा का होना है अनावरण

जहानाबाद कोर्ट स्टेशन के पश्चिम शिव सत्य रेस्ट हाउस में लोक जनशक्ति पार्टी जिला अध्यक्ष हेमंत शरण ऊर्फ कुंदन शर्मा एवं प्रदेश उपाध्यक्ष सह वर्तमान जिला परिषद अध्यक्ष रानी कुमारी के द्वारा प्रेस वार्ता की गई।

जिसमें जानकारी दी गई कि रामविलास पासवान की जयंती के शअवसर पर उनके कर्म भूमि हाजीपुर में आदम का मूर्ति का अनावरण होने जा रहा है उसी को लेकर प्रेस वार्ता किया गया जिसमें जिला अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी के सभी विधानसभा प्रत्याशी एमएलसी प्रत्याशी एवं पंचायत अध्यक्ष से लेकर जिला कमेटी के लोग उक्त कार्यक्रम में जहानाबाद से शामिल होंगे।

पटना: बुलडोजर के खिलाफ संग्राम; स्थानीय लोगों ने किया हमला, सिटी SP घायल

पटना । स्थानीय लोगों ने किया हमला सिटी SP घायल गैस सिलेंडर में आग लगाकर फेक रहे है उपद्रवी।

राजीव नगर में अतिक्रमण हटाने का मामला पुलिस पर किया पथराव हालात तनावपूर्ण पुलिस मामले को शांत कराने में लगे। पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े।

राजीव नगर में आवास बोर्ड की जमीन का मामला भारी संख्या में पुलिस फोर्स नेपाली नगर पहुंचे। जेसीबी मशीन को लाया गया अतिक्रमण हटाने को लेकर लाया गया है लोग अपनी जमीन से अतिक्रमण हटाने का के मामले को लेकर कई बार अधिकारियों से लगा चुके हैं गुहार नेपाली नगर में भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात।

75 मकानों और निर्माण को तोड़ने का पुलिस ने दावा किया
पटना जिला प्रशासन ने 25 लोगों की गिरफ्तारी की पुष्टि की

कल भी चलेगा अभियान 5 मकानों में रहने वाले परिवारों को आज रात का दिया गया समय
40 एकड़ जमीन कर लिया गया है कब्जे में:डीएम पटना

बक्सर में सामने आया अनोखा मामला, पेट्रोल की बढ़ती कीमतों से तंग आकर युवक ने लगाई बाइक में आग

खबर बक्सर से है जहां एक युवक ने पेट्रोल की महंगी कीमत से तंग आकर अपनी बाइक में आग लगा दी। घटना बक्सर के डुमरांव थाना क्षेत्र की है, अचानक बाइक में आग लगने के बाद लोगों ने उस बाइक का वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर डाल दिया।

घटना की सूचना के बाद मौके पर पहुंचे डुमरांव थाना की पुलिस ने युवक को थाने लाई और पूछताछ की, युवक ने बताया कि मोटरसाइकिल में पेट्रोल खत्म हो जाने के कारण महंगाई से त्रस्त होकर उसने अपनी बाइक में आग लगा दी और बाइक देखते-देखते धू धू कर जल उठी, बाद में स्थानीय लोगों ने आग पर काबू पाया।

मुंगेर पुलिस एवं सीआरपीएफ की संयुक्त कार्रवाई, कुख्यात नक्सली नरेश कोड़ा गिरफ्तार

दर्जनभर नक्सली कांडों का फरार आरोपी जिसकी गिरफ्तारी के लिए मुंगेर, जमुई एवं लखीसराय पुलिस लगातार छापेमारी कर रही थी. जो दर्जनभर नक्सली कांडों का फरार आरोपी है. इसकी गिरफ्तारी के लिए मुंगेर, जमुई एवं लखीसराय पुलिस लगातार छापेमारी कर रही थी.

पुलिस अधीक्षक ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान बताया कि सूचना मिली थी कि शामपुर थाना क्षेत्र के घोड़ाखुड़ पहाड़ी जंगल में माओवादी कमांडर प्रवेश दा अपने सहयोगी नारायण कोड़ा, बहादुर कोड़ा, वीडियो कोड़ा एवं नरेश कोड़ा दस्ता के साथ जमा है. जो अपना दबदबा कायम करने हेतु किसी वारदात को अंजाम देने के फिराक में है.

जिसके बाद नक्सलियों की गिरफ्तारी के लिए योजना बनाई गयी. साथ ही नक्सली जंगली पहाड़ी क्षेत्र में विस्फोटक लगाकर सुरक्षा बलों को नुकसान पहुंचाने के फिराक में है. एएसपी अभियान मुंगेर कुणाल, 207 कोबरा बटालियन भीमबांध एवं नक्सल सेल मुंगेर की टीम ने छापेमारी के लिए घोड़ाखुड़ पहुंची.

इसी दौरान घोड़ाखुर मंदिर के पास पुलिस को देख एक खड़ा व्यक्ति भाग जंगल में घुस गया जिसका पिछा कर सुरक्षा बलों ने पकड़ा. जिसकी पहचान कुख्यात नक्सली नरेश कोड़ा के रूप में हुई . गिरफ्तार नक्सली लखीसराय जिले के पीरीबाजार थाना क्षेत्र के लठिया कोड़ासी गांव कर रहने वाले है ।

जिसके पास से पुलिस टीम ने एक पिस्टल एवं 10 जिंदा कारतूस बरामद किया. एसपी ने बताया कि नरेश हार्डकोर नक्सली है और मारक दस्ता का कमांडर है. उस पर लखीसराय के पीरी बाजार थाना में 2, कजरा थाना में 3, चानन थाना में 1 एवं मुंगेर जिले के लड़ैयाटांड थाना में एक मामला दर्ज है.

जिसमें वह फरार चल रहा था. नक्सल प्रभावित मुंगेर, जमुई एवं लखीसराय के विभिन्न थानों में इसका आपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है. इसके खिलाफ बिहार सरकार एवं पुलिस महानिदेशक बिहार ने 50 हजार रूपया का ईनाम भी घोषित कर रखा है.

जहानाबाद जिला परिषद की सामान्य बैठक अयोजित की गई

तीन महीने बाद हुई बैठक में कई योजनाओं पर चर्चा की गई । बैठक में जो सरकार की ओर से राशि उपलब्ध कराई गई है। इसके साथ ही सभी जिला परिषदों को कैसी योजना लानी है, किस योजना में कितनी राशि खर्च की जाएगी।

इन सभी मुद्दों को लेकर चर्चा की गई. जिला परिषद की विकास गति मंद पड़ गई है. उसमें भी तेजी लाने के लिए कहा गया। इस दौरान बैठक में शामिल सभी सदस्यों ने अपने-अपने क्षेत्र के विकास कार्यों के बारे में जानकारी दी। बैठक में जिला परिषद के सभी सदस्य मौजूद रहे।