Press "Enter" to skip to content

विपरीत परिस्थितियों के बीच अरवल के आदर्श ने स्थापित किया आदर्श, वायु सेना से लेकर बीपीएससी तक की तय की सफर

अरवल जिले के नक्सल प्रभावित कुर्था में बीपीएससी में दूसरा स्थान लाए जाने के उपरांत खुशी का माहौल है। कहा गया है हौसला बुलंद हो तो मंजिले झुक के सलाम करती है। जी हां यह उक्ति प्रखंड क्षेत्र के कुर्था बाजार स्थित अमृत कुमार आदर्श ने बीपीएससी में दूसरा स्थान प्राप्त कर इस उक्ति का यथार्थ साबित किया बल्कि जिले में अपना नाम रोशन किया।

गरीब घर में जन्मे अमृत कुमार ने बीपीएससी 66 में दूसरा स्थान प्राप्त अपने क्षेत्र का नाम रोशन किया। प्राप्त जानकारी के अनुसार उनके पिता उमेश ठाकुर एक निजी विद्यालय चला चला कर अपना जीवन यापन करते हुए बच्चों को सुदृढ़ शिक्षा देते थे। जिसके परिणाम स्वरूप अमृत कुमार आदर्श ने बीपीएससी में दूसरा स्थान प्राप्त किए। प्रखंड क्षेत्र के रामरतन उच्च विद्यालय से मैट्रिक परीक्षा पास करने के बाद इतिहासबसे स्नातक एवं समाजशास्त्र से स्नातकोत्तर पास की।

पढ़ाई के काम में है भारतीय एयरफोर्स में उनकी नियुक्ति हो गई। वे 9 वर्ष एयर फोर्स में अपना सेवा दे रहे हैं। तदोपरांत उनकी नियुक्ति बैंक पीओ में हो या। परंतु उनकी इच्छा प्रशासनिक सेवा में जाने की थी। और वे प्रशासनिक सेवा की तैयारी में जुट गए। हालांकि बीपीएससी 63 उत्तीर्ण होकर 156 रैंक हासिल की थी।

परंतु इनकी इच्छा और आगे कुछ करने की थी वे फिर 66 वीं बीपीएससी परीक्षा में शामिल हुए, और उन्होंने दूसरा स्थान प्राप्त कर अपने जिले एवं क्षेत्र का नाम रोशन किया। जैसे ही उनका दूसरा स्थान प्राप्त करने की खबर जिला वासियों को मिली वैसे हैं उनके घर में उनको बधाई देने वालों की ताता लग गई।

More from खबर बिहार कीMore posts in खबर बिहार की »

Be First to Comment

    प्रातिक्रिया दे

    आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.